हिंदी संस्करण

तुलसी और काली मिर्च का काढा- इम्युनिटी बढ़ाने के लिए प्रयोग करें, होंगे लाभ

person access_timeAug 11, 2021 chat_bubble_outline0

मॉनसून में चिलचिलाती गर्मी से राहत पाने के अलावा, आपको संक्रमण, फ्लू और सर्दी होने का भी खतरा हो सकता है। मॉनसून के मौसम में संक्रामक बीमारियों, नमी और अस्वच्छ स्थितियों के कारण आपकी इम्युनिटी कम हो जाती है। इस समस्या से निपटने के लिए आपकी इम्युनिटी को बूस्ट करने की जरूरत होती है। संक्रमण से लड़ने के लिए काढ़ा एक अच्छा उपाय है। ये एक आयुर्वेदिक घरेलू उपचार है जो मौसमी संक्रमण और अन्य बीमारियों को दूर करने में मदद करता है जो मॉनसून के दौरान आम है।

काली मिर्च एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर मसाला है। ये संक्रमण को दूर रखने में मदद करता है। ये घावों और सूजन के कारण होने वाली परेशानी से भी राहत देता है। ये विटामिन सी से समृद्ध है। ये इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है। ये एक एंटीबायोटिक के रूप में काम करता है। तुलसी का आयुर्वेद में व्यापक रूप से औषधीय जड़ी बूटी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। ये तनाव को दूर करने और ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद करती है। तुलसी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-एजिंग गुण होते हैं जो शरीर में हानिकारक फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं। काढ़े में शामिल करने के लिए ये एकदम सही जड़ीबूटी है क्योंकि ये खांसी, सर्दी और गले में खराश के इलाज में मदद करती है। तुलसी बलगम और श्वसन संबंधी समस्याओं जैसे ब्रोंकाइटिस और अस्थमा से राहत दिला सकती है।

तुलसी और काली मिर्च की काढ़ा बनाने के लिए सामग्री

अदरक
लौंग 4-5
काली मिर्च 1 छोटा चम्मच पिसी हुई
तुलसी के पत्ते 5-6
 शहद ½ छोटा चम्मच
दालचीनी स्टिक

काढ़ा कैसे तैयार किया जाता है-

स्टेप 1- एक गहरे बर्तन में पानी लें और इसे उबाल लें
स्टेप 2- जब पानी में उबाल आ जाए तो अदरक, लौंग, काली मिर्च और दालचीनी को क्रश कर लें।
स्टेप 3- पानी में उबाल आने के बाद, सॉस पैन में तुलसी के पत्तों के साथ सभी पिसी हुई सामग्री डाले।
स्टेप 4- मध्यम आंच पर लगभग 20 मिनट तक या मिश्रण के आधा रह जाने तक पकाएं।
स्टेप 5- इस मिश्रण में शहद मिलाएं और गर्मागर्म सेवन करें।

कमेन्ट

Loading comments...