हिंदी संस्करण
समाचार

आज करें बात चावलों की

person access_timeAug 09, 2021 chat_bubble_outline0

चावल हमारे समाज का एक अत्यंत सामान्य भोज्य पदार्थ है। जिसका प्रयोग प्रायः सभी घरों में होता है। इसमें कैलोरी की मात्रा अधिक होती है इसलिए आजकल के स्वास्थ्य के प्रति सचेत व्यक्ति चावलों के प्रयोग में भी काफी जागरूक हो चुके हैं।

आजकल हमारे समाज में हमें कई तरह के चावल देखने को मिल रहे हैं। और लोग इनके गुणों के आधार पर इनका प्रयोग सोच समझकर कर रहे हैं।
चावलों के प्रकार

सफेद चावल

सफेद चावल हम सभी घरों में ज्यादातर बनता है। बाजार में मिलने वाले सभी किस्म की चावल में से सबसे ज्यादा सफेद चावल प्रोसेस्ड होता है। इसमें ब्रान, हस्क और अकुंरों को अच्छे से हटा दिया जाता है। जिसकी वजह से ये जल्दी खराब नहीं होते हैं। लेकिन अधिक प्रोसेसिंग करने की वजह से पौष्टिक तत्व कम हो जाते हैं इसमें एंटी ऑक्सीडेंट, प्रोटीन, थाईमिन, विटामिन होता है। इसके अलावा सफेद चावल में फाइबर की मात्रा कम होती है। इसमें कैल्शियम और फोलेट की अच्छी मात्रा होती है।

ब्राउन राइस



ब्राउन राइस में ब्रान और अंकुर होते है, इसमें से सिर्फ भूसा निकाल के बाहर किया जाता है। ये सफेद चावल से ज्यादा पौष्टिक होते हैं। इसमें फ्लेवनॉयड और एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं जो आपको स्वस्थ और डिसीज फ्री रखता है। ब्राउन राइस में सफेद चावल के सामान कैलोरी और कार्ब्स होता है। हालांकि इसमें प्रोटीन और फाइबर की मात्रा अधिक होती है। चावल की ये किस्म शुगर और इंसुलिन को मेंटेन करने का काम करता है।

रेड राइस



इस चावल में एंथोसायनिन नाम का एंटीऑक्सीडेंट होता है जो चावल को लाल रंग देने का काम करता है। इसमें आयरन की अच्छी मात्रा होता है जो सूजन और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है। ये चावल वजन घटाने वालों के लिए फायदेमंद है क्योंकि इसे पचाने में समय लगता है। इसे खाने से जल्दी भूख नहीं लगती है और पेट भी लंबे समय तक भरा रहता है। इसमें फाइबर, प्रोटीन समेत कई तरह के पौष्टिक तत्व होते हैं। ये आपके शरीर में कैंसर सेल्स को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा हृदय और डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है।

ब्लैक राइस

इसके ब्रान में मौजूद फाइटोकेमिकल्स की वजह से रंग काला होता है। इस किस्म के चावल में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन ई और एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है।
शोध में बताया गया है कि काले चावल में सभी किस्म के एंटी ऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है और इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम होता है। एंटी ऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स के डैमेज को कम करता है जिसकी वजह से गंभीर बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। काले चावल वजन घटाने और शुगर लेवल को मेंटेन करने में मदद करता है।

इन सभी में से रेड, ब्राउन, ब्लैक राइस हेल्दी ऑप्शन है। इनमें एंटी ऑक्सीडेंट, फाइबर, प्रोटीन, विटामिन्स और मिनरल्स की भरपूर मात्रा होती है। सफेद चावल को अधिक प्रोसेस्ड किया जाता है जिसकी वजह से पौष्टिक तत्व कम होते हैं। आप कोई भी चावल नियमित रूप से खाएं। क्योंकि चावल में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है और इसलिए अधिक मात्रा में खाना सेहत के लिए फायदेमंद नहीं होता है।

कमेन्ट

Loading comments...