हिंदी संस्करण
समाचार

जब हो सर्दी जुकाम न खाये ये पौष्टिक वस्तुएं भी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं

person access_timeAug 05, 2021 chat_bubble_outline0

मानसून सीजन में मौसमी संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। इस मौसम में खानपान को लेकर खास ध्यान देने की जरूरत होती है। ऐसे में जरा सी लापरवाही आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकती है। बारिश में सर्दी, जुकाम, खांसी का खतरा बढ़ जाता है। इस मौसम में हेल्दी चीजें भी सेहत के लिए नुकसानदायक होती है। ये हैं कुछ चीजें जिन्हें खाने से अलग रखें-

स्ट्रॉबेरी-


स्ट्रॉबेरी एक हेल्दी फूड है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन इसका अधिक सेवन करने से शरीर में हिस्टामाइन नाम का कंपाउंड रिलीज होता है। इसकी वजह से छाती में जमा बलगम नाक और साइनस के हिस्से में दिक्कत होती है। अगर आपको कोल्ड और फ्लू हैं तो इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

दूध-दही-


अगर आपको कोल्ड की समस्या है तो दूध से बनी वस्तुओं को खाने से बचना चाहिए। इन चीजों को खाने से रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट में बलगम की समस्या बढ़ने लगती है। बारिश के मौसम में कोल्ड की वजह से छाती में जलन होती है तो दूध, दही जैसी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

पपीता-


स्वस्थ सेहत के लिए पपीता खाना बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन सर्दी और जुकाम के समय में पपीता खाना सेहत के लिए नुकसानदायक होता है क्योंकि पपीता से हिस्टामाइन रिलीज होता है जो नसल पैसेज में सूजन को बढ़ाने का काम करता है अगर आपको साइनस की दिक्कत है तो पपीता खाने से परहेज करें।

अखरोट-


अखरोट स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। अगर आपको कोल्ड और फ्लू की समस्या है तो इसे खाने से बचना चाहिए। दरअसल अखरोट में हिस्टामाइन का लेवल ज्यादा होता है, जिसकी वजह से नसल पैसेज में सूजन बढ़ जाती है तथा इसे खाने से गले मे खराश होती है।

चाय-कॉफी-


सर्दी और जुकाम में ज्यादातर लोगों को चाय-कॉफी पीने का मन करता है। लेकिन ये चीजें स्वास्थ्य के लिए नुकसान होती है। दरअसल कॉफी में कैफीन होता है जिसकी वजह से शरीर डिहाइड्रेट हो जाता है। डिहाइड्रेशन की वजह से मांसपेशियों में दर्द होता है।

खट्टे फल-


खट्टे फल स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं लेकिन सर्दी-जुकाम में इन फलों को खाने से खराश और गले का दर्द बढ़ सकता है। इस समय में अनानास, नाशपाती और तरबूज जैसी चीजें खाएं तो बेहतर होगा। इन चीजों में वॉटर कंटेंट बहुत ज्यादा होता है जो शरीर को हाइड्रेट रखता है।

केला-


केला में कैल्शियम की भरपूर मात्रा होती है जो एनर्जी देने में मदद करता है। ये हाई शुगर फूड है जो शरीर में इन्फ्लेमेशन को बढ़ाने में मदद करता है। केले की तासीर ठंडी होती है, इसलिए कोल्ड और फ्लू में इसे नहीं खाना चाहिए।

कमेन्ट

Loading comments...