हिंदी संस्करण
समाचार

मछली खाने के फायदे

person access_timeJun 27, 2021 chat_bubble_outline0

अगर आपको नॉनवेज खाना पसंद है तो आपको अपनी डाइट में मछली को जरूर शामिल करना चाहिए। क्या आपको पता है कि मछली खाने के कई फायदे होते हैं। स्वादिष्ट होने के अलावा, मछली खाने से आपके स्वास्थ्य को कई तरीकों से लाभ मिल सकता है। मछली खाने से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है और हार्ट हेल्दी रहती है। साथ ही मछली का सेवन करने से शरीर में विटामिन-डी की कमी पूरी होती है। इस कोरोना काल में अगर आप अपने अंदर के स्ट्रेस को दूर भगाना चाहते हैं तो मछली का सेवन जरूर करें। आपको यह अजीब लग सकता है कि लेकिन बंगाल, असम और भारत के तटीय क्षेत्रों में लोग भोजन के रूप में मछली को विशेष महत्व देते हैं। मछली बनाना भी बहुत आसान है, क्योंकि मछली का मांस काफी तेजी से पकता है। चावल तथा रोटी के साथ इसे आसानी से खा सकते है। मछली हेल्थ को अच्छा बनाए रखती है। आइए आपको बताते हैं कि मछली खाना सेहत के लिए क्यों जरूरी है।

गुड फैट

फैट युक्त मछली (सैल्मन, ट्राउट, सार्डिन, टूना और मैकेरल) वास्तव में स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छी हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि मछली ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरी होती है। ये फैटी एसिड मस्तिष्क और आंखों की उचित देखभाल के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।

हेल्दी हार्ट

मछली में सैचुरेटेड फैट नहीं होता है, इस वजह से यह स्वास्थ्य और विशेषकर हृदय के लिए अत्यधिक लाभदायक है। चिकन, मटन जैसे प्रोटीन के अन्य स्रोतों के बजाय यदि आप नियमित रूप से मछली खाते हैं तो यह आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए बेहतर होगा क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत कम होती है।

विटामिन डी से परिपूर्ण

मछली विटामिन-डी का एक प्राकृतिक स्रोत है। शरीर को अन्य सभी प्रकार के पोषक तत्वों को अवशोषित करने और स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में मदद करने के लिए विटामिन-डी की जरूरत होती है। मछली खाने से शरीर की यह आवश्यकता पूरी हो जाती है।

स्ट्रेस से लड़ने में सहायक

मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड और DHA से लेकर विटामिन-डी तक सभी तत्व पाए जाते हैं और जब इसका सेवन किया जाता है तो ये सभी पोषक तत्व शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करते हैं। साथ ही ये अवसाद और मानसिक स्वास्थ्य जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं।

डायबिटीज में लाभदायक

यदि आप नियमित रूप से मछली खाते हैं, तो डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा कम कर सकते हैं। यह शरीर में शुगर की मात्रा को कंट्रोल करने में मदद करता है। यह कई बड़ी बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।- एजेंसी

कमेन्ट

Loading comments...