हिंदी संस्करण
समाचार

काठमांडू महानगरपालिका की नीति तथा कार्यक्रमों का कांग्रेस द्वारा विरोध

person access_timeJun 17, 2021 chat_bubble_outline0

रातोपाटी संवाददाता
काठमांडू। काठमांडू महानगरपालिका की नीति तथा कार्यक्रम पर्याप्त विचार विमर्श के बिना ही लाये जाने की बात कहते हुए कांग्रेस की तरफ से निर्वाचित जन प्रतिनिधियों द्वारा उसका विरोध किया गया है।

एमाले की तरफ से निर्वाचित मेयर विद्या सुन्दर शाक्य द्वारा बिना किसी विचार-विमर्श के एक तरफा तरीके से नीति तथा कार्यक्रम लाये जाने के प्रति अपना विरोध होने की बात उपमेयर हरी प्रभा खड्गी ने बताई।

कोविड की महामारी के समय जनता को राहत देने की किस्म से बजट लाये जाने की जरुरत होने पर मेयर शाक्य द्वारा किसी प्रकार की चर्चा किये बिना ही नीति तथा कार्यक्रम लाये जाने की प्रकिया पर हमारा विरोध है, बताया।

''नीति तथा कार्यक्रम पढ़कर सुनाने से नहीं होता, इस विषय पर सभी प्रतिनिधियों के साथ पर्याप्त चर्चा करके, जनता की इच्छाओं को भी इसमें समेटना होता है,' उन्होंने कहा- कोरोना विरुद्ध के टीकाकरण का यथोचित प्रबंध, महानगरवासियों के लिए राहत का प्रबन्ध करने के विषय में कोई चर्चा ही नहीं की गई। इसमें हमारी आपत्ति है।'

खड्गी ने कहा कि विगत समय से ही मैंने महानगरपालिका को वीर अस्पताल को कोविड विशेष अस्पताल के रूप में संचालन किये जाने की बात करते आने पर भी इस विषय पर कोई सुनवाई नहीं हुई है। महानगर में फैली अव्यवस्था को हटाने के लिए सभी के सुझाव तथा सलाह जरुरी होने की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि इस किस्म की सभी बातों को नजरअंदाज करते हुए मेयर द्वारा आगे बढ़ने का प्रयत्न किया गया है।

महानगरपालिका की नीति तथा कार्यक्रम आज गुरुवार नगर परिषद में पेश किये जाने की बात महानगरपालिका के सूचना अधिकारी बसंत आचार्य द्वारा जानकारी दी गई। परन्तु कांग्रेस द्वारा परिषद का बहिष्कार करने का निर्णय किया गया है।

काठमांडू महानगरपालिका वार्ड नंबर 16 से निर्वाचित अध्यक्ष मुकुंद रिजाल द्वारा पार्टी की बैठक के संचालन के बाद नगर परिषद का बहिष्कार करने का निर्णय किया।

उन्होंने कहा इस वक्त समय के नाजुक दर को देखते हुए कोविड महामारी से आक्रांत जनता को राहत देने के किस्म से नीति तथा कार्यक्रम आने चाहिए परन्तु यहाँ तो अपनी मन मर्जी से एक पक्षीय रूप में सब कुछ किये जाने का आरोप लगाया है। नीति तथा कार्यक्रम में घर भाड़ा कर पर छूट देनी चाहिए, विकास को समानुपातिक रूप में होना चाहिए, सभी नागरिकों के लिए टीकाकरण की प्रत्याभूति होनी चाहिए, उपचार की सहज व्यवस्था होनी चाहिए जैसे विषयों को नीति तथा कार्यक्रम में समेटा जाना चाहिए, उनका कहना है।

हम लोगों की मांगों का सम्बोधन होने तक बैठक में सहभागी न हो सकने की बात रिजाल ने की। महानगर में कांग्रेस से उपमेयर तथा 14 वार्ड अध्यक्ष हैं।

कमेन्ट

Loading comments...