हिंदी संस्करण
समाचार

फेफड़ों पर वार करता है कोरोना, सुरक्षित रहने के कुछ तरीकों पर ध्यान दें…

person access_timeApr 28, 2021 chat_bubble_outline0

एजेंसी। काठमांडू। कोरोना महामारी की दूसरी लहर से पूरा विश्व ही प्रभावित हो रहा है, इससे हमारा छोटा सा देश भी अछूता नहीं है। उस पर भी भारत में तेजी से फ़ैल रहे संक्रमण का सीधा असर हमारे देश पर पड़ रहा है। दोनों देशों के बीच खुली सीमाएं, दोनों देशों के नागरिकों का दोनों देशों में रोजगारी के लिए जाना तथा ऐसे संक्रमण काल में उनका अपने वतन वापस आना बड़े संजीदा कारण है जो हमें प्रभावित कर रहे हैं।

इस बार कोरोना वायरस सीधे ही संक्रमित के फेफड़ों को नुकसान पहुंचा रहा है। लगातार ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जिनमें कोरोना के लक्षण दिखने से पहले ही लोगों के 25% फेफड़े प्रभावित हो गए है। पर कुछ घरेलू उपाए और सही समय पर डॉक्टर से सलाह लेने से आप अपने फेफड़ों को सुरक्षित रख सकते है। यहाँ हम कुछ तरीकों का उल्लेख कर रहे हैं जिनसे आप अपने फेफड़ों को मजबूत रख सकते हैं।

गर्म पानी का भाप ले दिन में तीन से चार बार। पानी में अगर अजवाइन और कपूर डाले तो और बेहतर होगा।

हल्के गुनगुने पानी में नीबू डालकर पानी पीते रहें। अगर नीबू न हो तो गर्म पानी का सेवन भी फेफड़े को संक्रमण से बचाता है।

- ठंडे पानी का सेवन बिल्कुल न करें। फलों में संतरा, सेब और नारियल का पानी पियें।
- फेफड़ों की मजबूती के लिए सुबह उठकर अनुलोम-विलोम करें।
- सीढ़ियों पर चढ़े-उतरे।
- गुब्बारों को फुलाएं।
- 20 सेकंड से 60 सेकंड तक श्वास को रोकें। ऐसा तीन बार करें।

कैसे पहचाने आपके फेफड़े हो रहे संक्रमित- अगर सांस लेने में दिक्कत हो रही हो तो समझ लें कि वायरस फेफड़ों को संक्रमित कर रहा है।

-फेफड़े के निचले हिस्से में सूजन या तेज दर्द हो तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।
- सूखी खांसी आना, खासते वक्त सीने में दर्द होना भी कोरोना का लक्षण है।
- लक्षण दिखने पर घबराएं नहीं। सबसे पहले डॉक्टर से सलाह लें।
- अपने फेफड़े का सीटी स्कैन कराएं।
- हर आधे घंटे पर ऑक्सीमीटर से अपना ऑक्सीजन लेवल चैक करें।
- परिवार के अन्य लोगों से दूरी बनाए।
- अपने आप को किसी अन्य के संपर्क में न आने दें।  
- खाली पेट बिल्कुल न रहे।
- खाली पेट रहने से वायरस आपके शरीर को ज्यादा प्रभावित कर सकता है।

कमेन्ट

Loading comments...