हिंदी संस्करण
समाचार

ओली के द्वारा बैठक न बुलाये जाने पर माधव पक्ष असंतुष्ट

person access_timeMar 11, 2021 chat_bubble_outline0

काठमांडू। एमाले अध्यक्ष केपी शर्मा ओली के बैठक न बुलाये जाने के कारण माधव नेपाल समूह असंतुष्ट हुआ है।  

सर्वोच्च के फैसले के बाद पूर्व नेकपा एमाले अध्यक्ष की हैसियत से ओली द्वारा बैठक आमंत्रण में ढिलाई किये जाने पर भी नेपाल समूह निरंतर अपने समूह की बैठक करता आ रहा है। बुधवार केंद्रीय सदस्यों के बीच बातचीत करनेवाले माधव पक्ष ने गुरुवार स्थायी समिति सदस्यों के बीच बातचीत की है।  

'नेकपा एकता नहीं हो सकती परन्तु एमाले और माओवादियों के अलग अलग होने का सर्वोच्च का निर्णय भले ही कड़वा हो परन्तु इस स्थिति में नेकपा एमाले को एकताबद्ध करके विधि, प्रणाली और पद्धति से कैसे आगे बढ़ा जाये सरकार हमारी पार्टी के नेतृत्व में है। इस सम्बन्ध में क्या किया जाय, बातचीत के लिए तुरंत ही बैठक को बुलाने और विचार विमर्श की अपेक्षा की थी।'

'ऐसा न होने के कारण इतनी बड़ी नेकपा को तो हमने गंवाया अब कहीं एमाले की शक्ति भी गंवानी न पड़े इसकी चिंता हो रही है' , स्थायी समिति सदस्य भीम रावल ने गुरुवार की बातचीत के बाद कहा- 'सर्वोच्च के फैसले से न मिलनेवाले तथा कितने ही स्थानों पर गुंडागर्दी की घटनाएं बढ़ी हैं ऐसे क्रियाकलापों को बंद होना चाहिए।'

नई परिस्थिति में नई सरकार के गठन की चर्चा भी हो रहे वक्त में पार्टी में बातचीत करते हुए नेकपा एमाले एकताबद्ध होकर आगे बढ़ने के लिए पार्टी कमेटी की बैठक जरुरी है नेता रावल ने बताया। उन्होंने नेकपा एमाले के पुनः विभाजन की बात की कल्पना भी नहीं की जा सकती, कहा।

कमेन्ट

Loading comments...