हिंदी संस्करण

क्या प्रेग्नेंसी में सीढ़ी चढ़ना सुरक्षित है ?

person access_timeMar 14, 2020 chat_bubble_outline0

गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में बॉडी बैलेंस रहती है तो इस दौरान सीढ़ी चढ़ना सुरक्षित माना जाता है। लेकिन जब भ्रूण का विकास तेजी से होने लगता है तो सीढियां चढ़ना सुरक्षित नहीं होता। वहीं, सीढ़ियां चढ़ना एक फिजिकल एक्टिविटी है और इससे शरीर एक्टिव रहता है।

गर्भावस्था हर स्त्री के जीवन का एक बेहद खास समय होता है। इस दौरान महिलाओं को अपने खानपान पर विशेष ध्यान देने के साथ ही भारी काम करने से बचने की जरूरत होती है। सिर्फ इतना ही नहीं प्रेग्नेंसी के दौरान घर के बड़े बुजुर्ग सीढ़ियां चढ़ने के लिए भी मना करते हैं। यदि आप प्रेग्नेंट हैं और अपने घर के फर्स्ट फ्लोर पर रहती हैं तो जाहिर है कि आपको दिन भर में कई बार सीढ़ियां उतरनी चढ़नी पड़ेगी। लेकिन क्या प्रेग्नेंसी के दौरान वास्तव में सीढ़ियां नहीं चढ़नी चाहिए? चलिये जानते हैं गर्भावस्था में सीढ़ी चढ़ना कब सुरक्षित होता है और कब इससे बचना चाहिए।


 

​गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में बॉडी बैलेंस रहती है तो इस दौरान सीढ़ी चढ़ना सुरक्षित माना जाता है। लेकिन जब भ्रूण का विकास तेजी से होने लगता है तो शरीर का गुरुत्वाकर्षण भी बढ़ने लगता है और सीढ़ियां चढ़ते समय गिरने या फिसलने का जोखिम भी बढ़ सकता है। गर्भावस्था के 37वें हफ्ते में बच्चा पेल्विक में आ जाता है जिससे सांस लेने में परेशानी नहीं होती है। हालांकि अगर जरूरी हो तो रेलिंग का सहारा लेकर धीरे-धीरे सीढ़ियां चढ़नी चाहिए।

 

प्रेग्नेंसी में सीढ़ी चढ़ना क्यों फायदेमंद है ?

 

सीढ़ियां चढ़ना एक फिजिकल एक्टिविटी है और इससे शरीर एक्टिव रहता है। इसके अलावा भी सीढ़ी चढ़ने के कई फायदे होते हैं जैसे...

ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखने में एक रिसर्च में पाया गया है कि गर्भावस्था के दौरान सीढ़ियां चढ़ने से महिलाओं को प्रीक्लेम्पसिया यानी उच्च रक्तचाप की समस्या नहीं होती है।

गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में सीढ़ियां चढ़ने से जेस्टेशनल डायबिटीज की संभावना कम हो जाती है। इससे प्रेग्नेंसी हेल्दी होती है।

क्या सावधानियां बरतें

 

गर्भावस्था के दौरान सीढ़ियां चढ़ते या उतरते समय एक हाथ से रेलिंग पकड़ें और दूसरा हाथ खाली रखें।

यह ध्यान रखें की सीढ़ियों पर पर्याप्त रोशनी हो। अंधेरे में सीढ़ी चढ़ने से बचें।

यदि सीढ़ियों पर कारपेट बिछा हो तो यह ध्यान रखें कि किसी भी सीढ़ी पर कारपेट मुड़ा हुआ न हो।

धीरे-धीरे सीढ़ियां चढ़ें और कोई जल्दबाजी न करें।

अगर सीढ़ी चढ़ते समय सांस लेने में तकलीफ हो तो रुककर आराम करें।

सीढ़ी गीली या फिसलन भरी नहीं होनी चाहिए।

ढीले कपड़े पहनकर सीढ़ियां चढ़ने से बचें।

कमेन्ट

Loading comments...