हिंदी संस्करण

नक्शा औंर स्वाभिमान

person access_timeMay 25, 2020 chat_bubble_outline0

नक्शा तुम्हारा भी है
नक्शा हमारा भी है
आपका बड़ा नक्शा
हमारा छोटा सा नक्शा
अंतर नक्शे के आकार में है
मानचित्र का आत्म-सम्मान समान है।

आपके देश के मानचित्र पर अरबों लोग हैं
हमारे देश के मानचित्र पर करोडों लोग हैं
फर्क सिर्फ देश और संख्या का है
मनुष्य का स्वाभिमान वही है!

आपका और हमारा भोजन समान है
शरीर को ढकने के कपडे समान है
अंतर व्यंजन में है
कपडे के डिजाइन में है
पेट भरने और शरीर को ढकने का उद्देश्य एक ही है।

आप भी मनुष्य है
हम भी मनुष्य हैं
दुनिया के सभी मनुष्य हैं
फर्क तो वर्ण और आकृतियों में है
आत्म-सम्मान पर आस्था समान है।

हमारे आत्मसम्मान को आपके पैरों ने रौंदा तो,
हमारे दिलमें जख्म बनता है !
आपके आत्मसम्मान को हमारे पैरों ने रौंदा तो
तुम्हारा दिल जख्मी होता हैं !
अंतर आपके और हमारे बीच है
आत्मसम्मान और दिल एक ही हैं।

तुम अपने पूर्वजों के खून से प्यार करते हो
गांधी, भगत सिंह, और शुभाष चंद्र,
हम अपने पूर्वजों के खून से प्यार करते हैं !
प्रिय भीमसेन, भीम दत्त और गंगालाल
अंतर आपके और हमारे पूर्वजों के बीच है !
नक़्शे बनानेवाले दोनों के खून में नहीं
कितना करते हो घमण्ड
अपने नक्शे और स्वाभिमान का
आपका देशका अभाव वही !
हमारे देशका अभाव वही !
देश फर्क
आस्था, दिल और भाव वही।

हम तुम्हारे बलिदानों की सराहना करते हैं !
आपको हमारे बलिदानों की सराहना करनी चाहिए !
एक हाथ से ताली नहीं बजती, साहब
आपको अपने अतिक्रमित वाले मास्क को उतारना होगा !
आपके आडंबरपूर्ण हस्तक्षेप को रोका जाना चाहिए !
हमने नालापानी छोड दिया है !
तुम्हे कालापानी छोड देना होगा !

सावधान रहें !
अतिक्रमित नक्शा अस्वीकार्य है !
तुम्हारा अभिमान अस्वीकार्य है!
इतिहास पर नजर डालें
आसमान छूता हुआ माउंट एवरेस्ट की तरह
हम कभी नहीं झुके !
हमारा स्वाभिमान मजबूत है !
हमारा जीवन आलसी नहीं है !
बहादुरी से भरा हुआ
मृत्यु को स्वीकार करेंगे पर आत्म-सम्मान को गिरने नहीं देंगे।

कमेन्ट

Loading comments...