हिंदी संस्करण
समाचार

निषेधाज्ञा के अवशेष अब जोड़ फुट मात्र बांकी

क्या कहता है प्रशासन?

person access_timeOct 17, 2020 chat_bubble_outline0

रातोपाटी संवाददाता
काठमांडू। मध्यम तथा लम्बी दूरी के यातायात को शुरू होने के एक महीने के बाद सरकार ने यात्रिबाहक सवारी साधनों पर लगाईं गई 50% की सीमा हटाई है। मंत्री परिषद की सोमवार हुई बैठक के निर्णयानुसार यातायात व्यवस्था विभाग द्वारा इससे पहले का निर्णय की आधी क्षमता में ही यात्रियों को ढोने की व्यवस्था की है। इसके साथ ही शनिवार से सवारी साधन पूर्ण क्षमता में सवारियों को ढोने लगे हैं। इस निर्णय से यातायात व्यवसायियों ने बड़ी राहत का अनुभव किया है। इस निर्णय से यातायात व्यवसायी ही नहीं सवारियों को भी अभी तक दिए जाने वाले भाड़े को भी अब 33% घटा दिया गया है।  

अर्थात सरकार द्वारा 50% से बढाई गई भाड़े की दर कम कर दी गई है। अब पुराने भाड़े के अनुसार ही भाड़ा निर्धारण होगा।  

अब जोड़-फुट का नियम मात्र बांकी

काठमांडू बहार के सभी जिलों में सवारी साधन अब पूर्ववत ही संचालित होंगे। परन्तु घाटी में जिला प्रशासन के आदेश के कारण जोड़ और फुट का नियम अभी भी जारी हो रखा है।  

जोड़ और फुट प्रणाली को लागू किये एक महीना बीत जाने पर भी संक्रमण नियंत्रण में इस नियम की प्रभावकारिता का कोई भी अध्ययन अथवा चर्चा नहीं की गई है। और न ही इस नियम को हटाने के सम्बन्ध में ही कोई चर्चा हुई है।  

काठमांडू के प्रमुख जिलाधिकारी जनकराज दाहाल ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए ये अति आवश्यक है। इस नियम को हटाने के बदले इसे और भी अधिक कठोरता के साथ लागू करना जरुरी है।

कमेन्ट

Loading comments...