हिंदी संस्करण
समाचार

'मिनी ग्रेटवाल' में 1100 मीटर लम्बा पदमार्ग निर्माण

person access_timeSep 18, 2020 chat_bubble_outline0

रासस
दमौली। विश्व के ही प्रसिद्ध ग्रेटवाल की सी झलक देनेवाले, तनहुँ के बंदीपुर गांवपालिका में मिर्माण शुरू हुए मिनी ग्रेटवाल में 1 हजार 1 सौ मीटर पदमार्ग दीवार का निर्माण संपन्न हो गया है। जिले का मात्र न होकर गण्डकी प्रदेश का ही पर्यटकीय गंतव्य के रूप में परिचित बंदीपुर में पिछले अर्थिक वर्ष से पदमार्ग दीवार का निर्माण शुरू किया गया था।
गांवपालिका में नयां पर्यटकीय पूर्वाधार का निर्माण करके पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए गांवपालिका ने पदमार्ग दीवार का काम आरम्भ किया था, गांवपालिका के अध्यक्ष पूर्णसिंह थापा ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोविड- 19 की समस्या तथा बार बार होनेवाली बंदाबंदी की समस्या के कारण काम के ढिलाई हुई है।  

अभी तक के काम में 70 लाख रुपयों का खर्च हुआ है। पदमार्ग दीवार 4 किलोमीटर लम्बी होगी। दशहरे के बाद तुरंत ही काम शुरू करेंगे। थापा ने कहा, ''बंदीपुर में नए नए पर्यटकीय पूर्वाधारों को तैयार करके समृद्ध गांवपालिका के निर्माण के लिए हम सब जुटे हैं। '' पदमार्ग दीवार के निर्माण के लिए बजट की कमी होने के कारण संस्कृति, पर्यटन तथा नागरिक उड्डयन मंत्रालय से 5 करोड़ बजट की मांग भी की गई है।’’  

बंदीपुर गांवपालिका- 2 स्थित टहनिमाई मंदिर से निर्माण शुरू किया गया पदमार्ग दीवार मुकुन्देश्वरी डांडा (हिल) पर जाकर संपन्न होगा। इस डांडा पर सवारी साधन न जा सकने के कारण कामदारों के द्वारा निर्माण सामग्री ढोकर ही ले जाई जा रही है जिसके कारण निर्माण लागत भी महँगी हो रही है। मुकुन्देश्वरी डांडा तत्कालीन राजा मुकुंद सेन द्वारा शासन किया गया स्थान है इस पदमार्ग दीवार को भी मुकुन्देश्वरी दीवार के रूप में नामकरण किये जाने की बात भी उन्होंने बताई। ये पदमार्ग दीवार 3 मीटर चौड़ी होगी। मुकुन्देश्वरी डांडा में संग्रहालय बनाने का भी हमारा लक्ष्य है। इस दीवार मार्ग द्वारा राजा मुकुंद सेन के शासन का प्रचार होने के साथ ही बंदीपुर के पर्यटन प्रवर्धन में महत्वपूर्ण योगदान मिलेगा ऐसा हमारा विश्वाश है।

कमेन्ट

Loading comments...