हिंदी संस्करण
समाचार

गौतम बुद्ध के सम्बन्ध में भारतीय विदेश मंत्री की अभिव्यक्ति प्रति कांग्रेस की गंभीर आपत्ति

person access_timeAug 09, 2020 chat_bubble_outline0

रातोपाटी संवाददाता
काठमांडू। भारतीय विदेश मंत्री एस जय शंकर द्वारा गौतम बुद्ध के भारतीय होने का दावा किये जाने के बाद प्रमुख प्रतिपक्षी दल नेपाली कांग्रेस ने मंत्री के दावे के प्रति गंभीर आपत्ति व्यक्त की है। जय शंकर द्वारा शनिवार ''हम सभी के द्वारा आज तक के महान भारतीय कहकर जाने जानेवाले मात्र दो लोग हैं पहले गौतम बुद्ध और दूसरे महात्मा गांधी। इन्हें मात्र हम नहीं बल्कि सारा संसार ही महान भारतियों के रूप में पहचानता है,'' कहा था।  
इस सम्बन्ध में कांग्रेस प्रवक्ता विश्व प्रकाश शर्मा ने रविवार लगातार 3 ट्वीट करके गंभीर आपत्ति व्यक्त की है। शर्मा ने अपनी ट्वीट में लिखा है, 'बुद्ध का जन्म नेपाल में हुआ है इस बात का कहीं से भी हमने कोई प्रमाण पत्र नहीं माँगा है भारतीय भूमि से विगत में आई हुई टिप्पणियां भी ''नेपाल बुद्ध भूमि है'' स्वयं भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नेपाली संसद में बोले जाने पर ख़ारिज हो चुकी हैं। बाद इसके फिर से आपत्तिजनक टिपण्णी बेहद दुखद है।'

गौतम बुद्ध भारत के हैं मंत्री जय शंकर की इस अभिव्यक्ति को शर्मा ने आवेग का जबाब बताया है। शनिवार प्रधानमंत्री केपी ओली ने भगवान राम के नेपाल में जन्मे होने की अपनी बात-दावे को दोहराते हुए माड़ी में राम सीता हनुमान और लक्ष्मण की मूर्तियों को बनाने का निर्देशन दिया था।  

आवेग के जवाब में आवेग का प्रदर्शन दोनों देशों के हित में नहीं हो सकता।  

शर्मा ने कहा- 'प्रश्न चाहे राम जन्म भूमि का हो या बुद्ध जन्मभूमि का आपसी संवेदनशीलता को मध्य नजर न रखकर की जानेवाली टिप्पणियां गहरी छाप छोड़ सकती हैं। ऐसी टिप्पणियां मूल विषय को मोड़ तो सकती हैं परन्तु दीर्घकालीन हित में हृदयों को नहीं जोड़ सकती है।'

नेपाल में मौजूद पौराणिक और प्रमाणित तथ्यों के विपरीत भारतीय विदेश मंत्री की अभिव्यक्ति प्रति शर्मा की गंभीर आपत्ति है।

कमेन्ट

Loading comments...