हिंदी संस्करण
समाचार

शिक्षण संस्थाओं का खुलना फिर से दुविधाग्रस्त

person access_timeAug 09, 2020 chat_bubble_outline0

काठमांडू। कोरोना के कारण पिछले 4 महीनों से बंद शैक्षणिक संस्थाओं को खुलवाने के संबंध में फिर से दुबिधा की स्थिति है।

शिक्षा-विज्ञान तथा प्रविधि मंत्रालय ने कहा है कि जिन स्थानों पर वायरस संक्रमण न्यून स्थिति में है उन स्थानों पर भी विद्यालयों का संचालन न किये जा सकने की स्थिति बनी हुई है।  

मंत्रालय भी ऊपर की श्रेणियों से निर्देशन तथा समन्वय की प्रतीक्षा में रहने के कारण और भी अधिक दुविधा की स्थिति बनी है। मंत्रालय के प्रवक्ता और सह सचिव दीपक शर्मा ने कुछ जिलों तथा स्थानीय श्रेणियों में संक्रमण की अवस्था न्यून होने पर भी विद्यालय सञ्चालन की अनुमति मंत्रालय द्वारा न दिए जा सकने की बात बताई। उन्होंने ये भी कहा कि स्थानीय स्तर  से भी इस किस्म के प्रस्ताव नहीं आए हैं।

शिक्षा विज्ञान तथा प्रविधि मंत्रालय द्वारा किये गए कुछ निर्णयों को परिवर्तित कर दिए जाने के कारण अब विद्यालयों के संचालन के निर्णय के ऊपरी श्रेणी से आने की ही प्रतीक्षा करने की जय के सामान्य में मंत्रालय के सम्बंधित अधिकारी चर्चा परिचर्चा में जुटे हैं। इससे पहले मंत्रालय ने विगत चैत्र 4 गते स्वास्थ्य सुरक्षा पर ध्यान देते हुए माध्यमिक शिक्षा परीक्षा (एसईई) संचालन करने का निर्णय किया था।

चैत्र 5 गते हुई कोविद- 19 संक्रमण रोकथाम तथा नियंत्रण उच्च स्तरीय समिति द्वारा परीक्षा को रोकने का निर्णय किये जाने पर परीक्षा का सञ्चालन नहीं हो सका।

ये समाचार आज के गोरखापत्र दैनिक में शेषकांत पंडित ने लिखा है।

कमेन्ट

Loading comments...