हिंदी संस्करण

ब्राजील में कोरोना के कारण हालत बदतर

person access_timeMay 21, 2020 chat_bubble_outline0

एजेंसी। पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की चपेट में है। दुनिया का हर देश वायरस का दंश झेल रहा है। वायरस की शुरुआत में चीन इसका मुख्य हॉटस्पॉट बना हुआ था परन्तु  बाद में ईरान, इटली और अमेरिका चीन के बाहर नए हॉटस्पॉट बनकर उभरे। 

वहीं, अब दक्षिण अमेरिकी देश ब्राजील इस जानलेवा वायरस का नया हॉटस्पॉट बना हुआ है। ब्राजील में कोरोना से एक दिन में सबसे ज्यादा 1179 मौतें हुई हैं। इससे पहले 12 मई को सबसे ज्यादा 881 मौतें सामने आई थीं। कोरोना वायरस से प्रभावित देशों की सूची देखने से पता चलता है कि, ब्राजील दुनिया का तीसरा सबसे ज्यादा कोविड-19 प्रभावित देश है। 

इस दक्षिण अमेरिकी देश में अब तक 2,93,357 लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं। वहीं, 18,894 लोगों की इस खतरनाक वायरस से मौत हुई है। देश में वायरस की चपेट में स्वास्थ्य कर्मी भी आ रहे हैं। ब्राजील नर्सिंग ऑब्जर्वेटरी ने बताया है कि देश में अब तक 14,861 स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित मिले हैं। वहीं, कोविड-19 से अब तक 179 स्वास्थ्य कर्मियों की मौत हुई है। 

मरने वालों में 109 महिला स्वास्थ्य कर्मी भी शामिल हैं। कोरोना मरीजों का इलाज कर रहीं नर्सों का कहना है कि उन्हें पीपीई किट मुहैया नहीं कराई जा रही है। देश में ज्यादातर नर्सों को इसे पहनने का तरीका भी नहीं पता है। वहीं, सरकार की तरफ से कुछ पीपीई किट मुहैया तो कराई जा रही है, लेकिन पहनने की जानकारी नहीं होने के चलते नर्सें संक्रमण का शिकार हो रही हैं।

एक ही पीपीई किट का इस्तेमाल करने को मजबूर स्वास्थ्य कर्मी


हालात इस कदर खराब हो चुके हैं कि अस्पताल के कर्मचारी अलग-अलग शिफ्ट में एक ही पीपीई किट का इस्तेमाल कर रहे हैं। स्वास्थ्य कर्मियों के बीच संक्रमण फैलने का यह भी एक खतरा है। ब्राजील में कोरोना के इलाज के लिए अस्पताल कम पड़ गए हैं। देश का सबसे बड़ा शहर साओ पाउलो कोरोना हॉटस्पॉट बन चुका है, यहां तीन हजार से ज्यादा लोगों की मौतें हो चुकी हैं। वहीं, शहर के अस्पतालों में 90 प्रतिशत से अधिक भर चुके हैं। 

कमेन्ट

Loading comments...