हिंदी संस्करण

बकिंघम पैलेश की रोचक कुछ बातें

person access_timeMay 19, 2020 chat_bubble_outline0

एजेंसी। बकिंघम पैलेस का नाम तो प्रायः सब ही जानते हैं। लंदन में स्थित यह महल ब्रिटिश राजघराने का आधिकारिक निवास स्थान है। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय इसी महल में रहती हैं, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि ये महल उनकी निजी संपत्ति नहीं है, क्योंकि इसपर मालिकाना हक ब्रिटिश सरकार का है। इस महल से जुड़ी ऐसी ही कई रोचक बातें हैं, जो आपको शायद ही पता हों।


वर्ष 1703 में ड्यूक ऑफ बकिंघम ने लंदन में रहने के लिए एक विशाल टाउन हाउस का निर्माण करवाया था। इसे ही आज बकिंघम पैलेस के नाम से जाना जाता है। हालांकि 1837 ईस्वी में पहली बार महारानी विक्टोरिया ने इस महल को अपना आधिकारिक आवास बनाया था। वह बकिंघम पैलेस में रहने वाली पहली महारानी थीं। 



बकिंघम पैलेस में कुल 775 कमरे हैं, जिसमें से 52 शाही कमरे हैं, यानी उसमें सिर्फ राजघराने के लोग ही रह सकते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि महल में कुल 1514 दरवाजे और 760 खिड़कियां हैं। इसके अलावा महल में 350 से ज्यादा घड़ियां भी लगी हुई हैं। 

बकिंघम पैलेस के बेसमेंट में एक एटीएम मशीन भी लगी हुई है, जो शाही परिवार की निजी एटीएम मशीन है। इसका इस्तेमाल सिर्फ राजघराने से संबंधित लोग ही करते हैं, जैसे कि महारानी, राजकुमार और उनकी पत्नियां। 

क्या आपको पता है कि बकिंघम पैलेस में पहली बार बिजली साल 1883 में आई थी? आज इस भव्य और विशाल महल को रोशन करने के लिए 40 हजार बल्बों का इस्तेमाल होता है। आपको शायद ही पता हो कि इंग्लैंड के सबसे बड़े महलों में से एक बकिंघम पैलेस का गार्डन लंदन का सबसे बड़ा निजी गार्डन है। 

 

कमेन्ट

Loading comments...