हिंदी संस्करण

क्या चीन की महामारी की जानकारी खुली और पारदर्शी है ? तथ्य क्या कहते है ?

person access_timeFeb 16, 2020 chat_bubble_outline0

चीन में हुई न्यूज ब्रीफिंग अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा चीन की महामारी की रोकथाम स्थिति को जानने की खिड़की है।

15 फरवरी को हुबेई प्रांत के वुहान शहर में चीनी राज्य परिषद के प्रेस दफ्तर ने एक न्यूज ब्रीफिंग का आयोजन किया और देश विदेश के लोगों को हुबेई में महामारी की रोकथाम स्थिति और इलाज की जानकारी दी।यह पहली बार है कि चीनी राज्य परिषद ने न्यूज ब्रीफिंग को महामारी के फ्रंट लाइन में स्थानांतरित किया और दूर से सवाल पूछने के लिए 5 जी लाइव प्रसारण और वीडियो का उपयोग किया, ताकि लोग चीन में महामारी की रोकथाम की प्रगति के बारे में जानकारी पा सकें।

सिलसिलेवार आंकड़े बताते हैं कि चीन के कठोर प्रयास से महामारी की परिस्थिति में बहुत बडा परिवर्तन आया है और रोकथाम के कार्यों में महत्तवपूर्ण उपलब्धियां हासिल हुई हैं। इस मामले मे खुलेपन के सिद्धांत ने अहम भूमिका निभाई है। महामारी के अचानक आने से लोग जरूर तनाव में आ गए थे। लेकिन सूचना प्रकटीकरण ने सबसे अच्छे स्टेबलाइजर का काम किया है।यह न सिर्फ महामारी से संबंधित सूचनाओं को जानने के लिए खुद की रक्षा करने में मददगार है, बल्कि झूठी सूचनाओं और अफवाहों को भी समय पर नियन्त्रित करने मे कारगर है।

22 जनवरी से चीन की केंद्रीय सरकार ने 25 बार न्यूज ब्रीफिंग का आयोजन किया। हुबेई प्रांत समेत विभिन्न सरकारों ने भी समय पर संबंधित सूचनाएं प्रेषित की है। चीन के प्रयास से महामारी को अन्य देशों में फैलने से रोका गया है। अब तक विदेशों में वायरस से संक्रमित मामलों की संख्या चीन की 1 प्रतिशत से भी कम है।अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भी सोशल मीडिया पर कहा कि अमेरिका चीन के प्रयासों की प्रशंसा करता है। कोविद-19 एक नया रोग है, जिसके प्रति लोगों की समझ धीरे धीरे गहरी होती जाएगी और उपचार के अनुभव भी बढते जाएँगे।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की आपात स्वास्थ्य घटना के कार्यकारी निदेशक माइचेल रिएन ने 14 फरवरी को संवाददाता सम्मेलन में स्पष्ट रूप से कहा कि चीन सरकार सक्रिय रूप से डब्ल्यूएचओ के साथ सहयोग कर रही है और अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों को आमंत्रित कर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ सूचनाओं को शेयर करने का काम कर रही है। चीन के द्वारा महामारी का मुकाबला करने के प्रयास सराहनीय है।

गौरतलब है कि डब्ल्यूएचओ के अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों से गठित एक दल के सभी सदस्य इस सप्ताहांत चीन पहुंचेंगे। इस मौके पर विशेषज्ञगण महामारी रोकथाम के लिए अपने सुझाव पेश करेंगे। निसंदेह यह चीन और विश्व के लिए खुशी की बात है।

Title Photo: https://www.aljazeera.com

कमेन्ट

Loading comments...